A heart touching sad love story of a girl

A Heart Touching Sad College Love Story Of Raaz And Pooja Hindi

Posted by

Heart Touching Love Story For A Girl है पूजा के बारे में है। पूजा एक ऐसी लड़की थी जिसे प्यार के बदले हमेशा दर्द और सिर्फ दर्द ही मिला ज़िंदगी मैं। आप भी किसी न किसी से बेइंतहा प्यार करते होंगे तो आप भी ये कहानी जरूर पढ़िए।

A Heart Touching Sad Love Story For A Girl In Hindi

वो दिन बहुत ही खाश दिन था क्युकी वो दिन मेरी कॉलेज लाइफ का पहला दिन था। न जाने कबसे ये सोचा था की कॉलेज जायेगे आज़ाद पंछी बनकर अपने मनचाहे कपडे पहनकर। कभी न भूलने वाला वो कॉलेज का पहला दिन था और हर कोई नए दोस्त बना ना चाहता था और हरकोई बस जान पहचान बढ़ाने में लगा हुआ था तभी ही प्रोफेसर मैडम की एंट्री हुई और सभी लोग चुप हो गए। मैडम ने सभी को बारी बारी अपना परिचय देने को कहा सभी लोग अपना परिचय दे रहे थे इतने में पूजा की बरी आई पूजा अपना परिचय दे रही थी तभी थोड़े दूर बैठे राज़ की नज़र उसपे पड़ती है। राज़ ने आज तक किसी लड़की को ऐसे नहीं देखा होगा वैसे वो बेताब होक उसको देख रहा था। परिचय ख़त्म हो गया था पर अभी भी राज़ की नज़र पूजा पे टीकी हुई थी।

College Love Story Of Raaz And Pooja 

अगल दिन जब राज़ कॉलेज आया उसकी नज़र पूजा को ही ढूंढ रही थी। उतने में ही राज़ ने पूजा को देखा पर राज़ के पास पूजा को कहने के लिए कोई बात नहीं थी और वो वह से थोड़े दूर चला जाता है और पूजा को देखते रहता है। ऐसे ही कुछ दिन और बीते और अब बारी प्रोजेक्ट की थी इस बार प्रोजेक्ट ग्रुप में था तो पूजा और राज़ भी एक ही ग्रुप का हिस्सा थे। राज़ बहुत ही खुश था क्युकी अब वो किसी न किसी बहाने से पूजा के साथ बात करने का और वक्त बिताने का बहाना ढूंढ ही लेता था।

जैसे जैसे वक्त बीता दोनों बहुत अचे दोस्त हो चुके थे। एक दिन जब वो कॉलेज के टूर पे गए थे तो राज़ ने पूजा को प्रोपोज़ किया और पूजा राज़ को मना नहीं कर पाई पूजा को क्या पता था ये ख़ुशी वाले दिन बाद में उसके लिए दर्द लेकर आने वाले थे। अब पूजा एक अछि दोस्त के साथ साथ राज़ की प्रेमिका भी थी वो दोनों हर वक्त साथ में रहते कॉलेज में कॉलेज के बाद कॉफ़ी शॉप में प्रोजेक्ट मैं कैंटीन में देखते ही देखते दोनों कॉलेज की लिए एक परफेक्ट कपल बन गए थे।

कॉलेज के दिन दोनों के बहुत ही अच्छे बीते थे पर कॉलेज के बाद दोनों का मिलना बहुत ही काम हो गया था। पूजा जब भी शादी की बात करती या फिर कुछ और बात करती राज़ हमेशा उसे टालने की कोशिश में लगा हुआ था। पूजा की मम्मी जब राज़ के बारे में पूछती तो उसके पास कोई जवाब नहीं होता था। कुछ दिनों से राज़ ने कॉल भी उठना छोड़ दिया था इस लिए अब पूजा ने सोचा के उसके घर जाएगी और उसका हालचाल पूछेगी। पूजा अब राज़ के घर पहुँचती है और उसकी मम्मी दरवाजा खोलती है घर में माहौल बहुत ही अलग था पूजा ने कहा वो राज़ की दोस्त है और उसके मिलने आई है राज़ की मम्मी पूजा को सोफे पर बैठने को बोलती है और चाय बना के लाती है। पूजा ने कहा राज़ कब मिलेगा तब उसकी मम्मी बोलती है वो अपनी शादी की शॉपिंग के लिए गया है देर लगेगी अब पूजा के लिए एक पल भी बिताना मुश्किल हो रहा था। तभी ही पूजा ने पूछा की अभी ही कॉलेज ख़त्म हुई है इतने जल्दी शादी हो रही है यकीं नहीं हो रहा तभी राज़ की मम्मी बोलती है की उसको लव मैरिज की बहुत ही जल्दी थी।

पूजा अब अपने घर को निकल गई थी रस्ते में सोच रही थी की न जाने कबसे राज़ उसको धोका दे रहा था राज़ से एक बार भी मेने शक नहीं किया। पूजा घर पहुँचती है अपनी माँ से लिपटकर बहुत ही रोटी है और माँ उसको बोलती है की बेटा अब जो होना था हो गया तुम आगे पढ़ो और अपने आप को वक्त तो वक्त के साथ सब कुछ सही हो जायेगा। पूजा माँ की बात को हमेशा मानती थी ये भी मानी और आगे पढ़ने के लिए दूसरे शहर चली गई। पूजा ने कभी भी राज़ को कांटेक्ट नहीं किया न ही राज़ ने उसका हाल पूछा। हां पर आज भी दिल के किसी कोने में राज़ था और पूजा कभी कभी अकेले में रोती थी।

बहुत सी कहानिया पूजा और राज़ जैसी होगी जो किसी पूजा के लिए आँशु की वजह होगी। खेर अब पूजा पढ़के वापस अपने शहर आई है और उसकी कॉलेज में प्रोफेसर है जहा वो राज़ से मिली थी और अब राज़ नहीं पर है अखिलेश से उसकी शादी हो गई थी और पूजा ज़िंदगी में आगे बढ़ गई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *